फोटो : मीडियाभारती.नेट

मध्य-पूर्व क्षेत्र में ईरान और अमेरिका के बीच तनाव लगातार बढ़ रहा है। तुलनात्मक रूप से देखें तो ईरान अमेरिका से कहीं ज्यादा कमजोर देश नजर आता है लेकिन वास्तविकता में ऐसा नहीं है। यहां हम आपको ईरान की उन तीन खास ताकतों के बारे में बता रहे हैं जो उसे अमेरिका से सीधे भिड़ने का हौसला देती हैं।

1. ईरान पूरी दुनिया की तेल आपूर्ति को रोककर वैश्विक अर्थव्यवस्था को पटरी से उतार सकता है। दुनियाभर में कुल तेल प्रवाह का पांचवां हिस्सा फारस और ओमान की खाड़ी के बीच से निकलता है और इस पर ईरान का काफी हद तक नियंत्रण है।

2. अमेरिका से टकराव को लेकर पूरा ईरान एकमत है जबकि अमेरिका में ईरान से संघर्ष को लेकर कई वैचारिक मतभेद उभर रहे हैं। ईरान में जनता और नेतृत्व मिलकर अमेरिका को जवाब देना चाहते हैं।

3. अमेरिका ने ईरान से सटे देशों में अपने सैन्य अड्डे स्थापित किए हैं। इन पर ईरान आसानी से हमला कर सकता है। यूरोप के कुछ देश भी ईरान की सीधी जद में हैं।

The content does not represent the perspective of UC