Third party image reference

साल 1921 के दौरान एक सरकारी भोज में मोहम्मद अली जिन्ना की पत्नी रतन बाई जिन्ना वायसराय लॉर्ड रीडिंग के पास बैठी थीं।

रीडिंग ने बातचीत की दौरान रतन बाई से कहा कि जर्मनी के लोग अंग्रेजों को पसंद नहीं करते, इसलिए वह जर्मनी नहीं जा सकते हैं। वरना, जर्मनी की यात्रा करना उनकी एक बड़ी इच्छा है।

यह सुनकर रतन बाई जिन्ना की भौंहें तन गई। घृणा प्रदर्शित करते हुए वह बोलीं कि इसी आधार पर तब आप अंग्रेज लोग हमारे भारत में कैसे चले आए? भारत के लोग कौन सा आप को इतना पसंद करते हैं। यहां भी आपकी नापसंदगी उतनी ही है।

वायसराय यह सुनकर दंग रह गए क्योंकि वह इस तरह की प्रतिक्रिया के लिए बिल्कुल भी तैयार नहीं थे।

The content does not represent the perspective of UC