Third party image reference

लेनिन की मृत्यु के बाद स्टालिन ने रूस में अपने आपको एक तानाशाह के रूप में स्थापित कर लिया और वह रूसी राजनीति के शिखर पर पहुंच गए। ऐसे में उन्होंने अपने खिलाफ हर विरोध को निमर्मता से कुचल दिया।

इसी प्रकार, रूसी जन-जीवन में अपना वर्चस्व बनाए रखने की गरज से स्टालिन ने एक बार अपने जासूसों की जांच करनी चाही। इसके लिए, उन्होंने गुप्त रूप से कुछ पर्चे छपवाए और शहर में इधर-उधर फेंकवा दिए। पर्चों में स्टालिन के बारे में अनर्गल बातें छपी थीं।

दूसरे दिन वे सभी पर्चे चुनकर उनके सामने पेश कर दिए गए। स्टालिन ने जासूसों के प्रमुख को बुलाकर अनजान बनते हुए कहा कि उसकी नजर में भला ऐसा कौन कर सकता है?

जासूसों के मुखिया ने उत्तर दिया कि हूजूर, आपके सिवा यह काम और कौन कर सकता है? भला आपके बारे में आपसे अधिक कौन जानता है?

स्टालिन अपने अधिकारी का मुंह देखता रह गए।

The content does not represent the perspective of UC